जन्तु जगत का वर्गीकरण(Classification Of Animal Kingdom),फाइलम/संघ(Phylum)

जन्तु जगत का वर्गीकरण(Classification Of Animal Kingdom) फाइलम/संघ(Phylum)- जन्तु जगत को मुख्य रूप से निम्नलिखित 11 संघ (Phylum) में वर्गीकरण किया गया है- 1. प्रोटोजोआ 2. पोरीफेरा 3. सीलेन्ट्रेटा 4. प्लेटी हेल्मेंथ्रीज 5. एस्केलमिंथेस 6. एनीलिडा 7. अन्थ्रोपाडा 8. मोलस्का Read More …

जन्तु जगत का वर्गीकरण (Classification Of Animal Kingdom) :-

जन्तु जगत का वर्गीकरण (Classification Of Animal Kingdom) :- वर्गीकी (Taxonomy) – किसी सजीव को समानताओं एवं असमानताओं के आधार पर निश्चित समूहों में वर्गीकृत करना वर्गीकी कहलाता है। अरस्तु ने वर्गीकरण की शुरूआत की। अरस्तू ने अपनी पुस्तक ‘Anemalia Read More …

न्यूटन के गति के नियम(Newton’s law of motion):-

न्यूटन के गति के नियम(Newton’s law of motion):- गुरूत्वाकर्षण के पिता न्यूटन ने सन् 1687 में अपनी पुस्तक ’प्रिंसीपिया’ में सबसे पहले गति के नियम को प्रतिपादित किया। न्यूटन से पूर्व ब्रम्हगुप्त ने कहा था कि सभी वस्तुएॅं पृथ्वी की Read More …

सामाजिक विकास को प्रभावित करने वाले कारक (Factors Affecting Social Development)

सामाजिक विकास को प्रभावित करने वाले कारक (Factors Affecting Social Development) :-  1. वंशानुक्रम (Heredity) 2. शारीरिक तथा मानसिक विकास (Physical & Mental Development) 3. संवेगात्मक विकास (Emotional Development):- प्रेम, स्नेह, परिहास वाले बालकों का सामाजिक विकास ईष्र्या, क्रोध, द्वेष, घृणा, Read More …

सामाजिक विकास (Social Development)

4. सामाजिक विकास (Social Development) जन्म के समय बालक में सामाजिकता लगभग शून्य होती है। शारीरिक एवं मानसिक विकास के साथ उसका सामाजीकरण भी होने लगता है। जैसे-जैसे वह लोगों के सम्पर्क में आता है वह सामाजिक परम्पराओं, मान्यताओं, रूढ़ियों Read More …

दूरी/चाल/वेग/बल/गति (Distance/Speed/Velocity/Force/Motion)

  दूरी (Distance) – किसी दिये गये समयान्तराल में वस्तु द्वारा तय किये गये मार्ग की लम्बाई को दूरी कहते हैं। यह एक अदिश राशि है। यह सदैव धनात्मक होती है। उदा.- रायपुर, बिलासपुर से 120 किमी. की दूरी पर Read More …

संज्ञानात्मक विकास (Cognitive Development)

3. (B) ब्रूनर के अनुसार संज्ञानात्मक विकास (Cognitive Development) (Jerome Bruner):- जेरोम ब्रूनर नामक अमेरिकन मनोवैज्ञानिक ने संज्ञानात्मक विकास के एक नए सिद्धान्त का प्रतिपादन किया जिसे पियाजे के सिद्धान्त का विकल्प का प्रतिपादन किया जिसे पियाजे के सिद्धान्त का Read More …

बौद्धिक विकास की अवस्था (Stages Of Mental Development)

बौद्धिक विकास की अवस्था ( Stages Of Mental Development) :-  पियाजे ने बौद्धिक विकास को निम्नलिखित चार अवस्थाओं में विभाजित किया है:- 1. संवेदात्मक गामक अवस्था (SENSORI MOTOR STAGE):- (जन्म से-2 वर्ष तक) :-  यह ज्ञानात्मक (बौद्धिक) विकास की प्रथम Read More …

3. संज्ञानात्मक विकास (CONGNITIVE DEVELOPMENT)

3. संज्ञानात्मक विकास (CONGNITIVE DEVELOPMENT) 3(A) जीव पियोज का संज्ञानात्मक विकास (COGNITIVE DEVELOPMENT OF THE CHILD) (JEAN PIAGET) संज्ञानात्मक विकास के क्षेत्र में जीवन पियोज का योंगदान सबसे महत्वपूर्ण माना जाा है। इनका जन्म 9 अगस्त 1896 ई0 मे स्विट्जरलैण्ड में Read More …