भारतीय-अमेरिकी गुरिंदर सिंह खालसा ने रोजा पार्क्स ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार प्राप्त किया

अमेरिका,इंडियाना के फिशर्स में रहने वाले 45 वर्षीय भारतीय-अमेरिकी सिख गुरिंदर सिंह खालसा को इंडियाना माइनॉरिटी बिजनेस मैगज़ीन द्वारा विविधता के चैंपियन के लिए चुने जाने के बाद प्रतिष्ठित 2019 रोजा पार्क ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार प्राप्त किया गया है.
यह पुरस्कार उनके अभियान के लिए दिया गया है, जिसने अमेरिका में अधिकारियों को सिख समुदाय की पगड़ी के प्रति अपनी नीति बदलने और साहस और करुणा के अपने निरंतर प्रदर्शन के लिए मजबूर किया है.
रोजा पार्क ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार

एक भारतीय अमेरिकी परोपकारी और उद्यमी गुरिंदर सिंह खालसा (Gurinder Singh Khalsa) को 19 जनवरी 2019 को प्रतिष्‍ठित रोजा पार्क ट्रेलब्लेजर पुरस्कार दिया गया है। उन्हें उनके उस अभियान की वजह से यह पुरस्कार दिया गया जिसकी वजह से अमेरिकी अधिकारियों को सिख समुदाय द्वारा पहनी जाने वाली पगड़ी को लेकर अपनी नीति बदलने के लिये बाध्य होना पड़ा। इंडियानापोलिस स्थित खालसा (45) को लगातार साहस और करुणा के प्रदर्शन के लिये यह सम्मान दिया गया। कार्यक्रम के आयोजकों ने कहा कि साल 2007 में खालसा को उनके पगड़ी पहने होने की वजह से विमान में चढ़ने से रोक दिया गया था।

इसके बाद खालसा ने एक राष्ट्रव्यापी याचिका के लिये 67,000 लोगों को प्रेरित किया और मामले को अमेरिकी संसद तक ले गये, जिसने ट्रांसपोर्टेशन एंड सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेशन (टीएसए) को बाध्य किया कि वह सिख समुदाय द्वारा पहनी जाने वाली पगड़ी को लेकर अपनी नीति बदले। इसी के फलस्वरूप अमेरिका में सिख अब एयरपोर्ट सुरक्षाजांच के दौरान अपनी पगड़ी पहने रह सकते हैं।

 

One thought on “भारतीय-अमेरिकी गुरिंदर सिंह खालसा ने रोजा पार्क्स ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार प्राप्त किया”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *